Posted in Jobs

Indian Army Recruitment 2018 – 291 Posts of LDC, Tradesman Mate & More

Indian Army has released a recruitment notification for 291 posts of Lower Division Clerk, Tradesman Mate and More. Interested candidates may check the vacancy details and apply from 22-12-2017 to 11-01-2018.
More details about Indian Army Recruitment (2018), including number of vacancies, eligibility criteria, selection procedure, how to apply and important dates, are given below:

Vacancy Details:
Post Name: Lower Division Clerk
No. of Vacancies: 10
Pay Scale: Rs. 19,900

Post Name: Tradesman Mate
No. of Vacancies: 266
Pay Scale: Rs. 18,000

Note: For more Information, visit Detail Advertisement.

Job Location: All India
Eligibility Criteria for Indian Army LDC, Tradesman Mate and More:
Educational Qualification: Candidates should have passed 10th OR 10+2 or equivalent from a recognised board.
Age Limit: Minimum 18 years and Maximum 25 years

Age Relaxation:

Sr. No. Category of Candidates Relaxation of Age Permissible
1. SC/ST Candidates 05 Years
2. OBC Candidates 03 Years
3. Ex-servicemen 03 Years
4. PH Candidates 10 Years

Selection Process: Selection of candidates will be made on the basis of Written Examination and Physical Endurance Test (PET).
Application Fee: No Application Fee
How to Apply: Interested and eligible candidates may apply by sending their application form along with the photocopies of relevant education qualification certificate, D.O.B certificate, and two passport size photographs and a self-addressed envelope with postal stamps of Rs. 25 through Ordinary Post/Registered Post/Speed Post to 27 Field Ammunition Depot, Pin-909427, C/o 56 APO before 11-01-2018.

Important Dates:
• Starting Date of Application: 22-12-2017
• Last Date of Sending Application Form: 11-01-2018


Important Links:
Detail Advertisement and Application Form

 

Posted in Ayurveda

Ayurvedic Home Remedies for Rheumatoid Arthritis | RA | Joint Pain

Rheumatoid Arthritis

Rheumatoid Arthritis (known as Amavata in Ayurveda) is an immune system illness that causes interminable aggravation of the joints. It can likewise cause aggravation of the tissue around the joints, and also in different organs in the body. Immune system sicknesses are diseases that happen when the body’s tissues are erroneously assaulted by their own particular insusceptible framework. Patients with immune system maladies have antibodies in their blood that objective their own particular body tissues, where they can be related with irritation. Since it can influence numerous different organs of the body, Rheumatoid Arthritis is alluded to as a fundamental sickness and is infrequently called rheumatoid ailment

Causes

Expanded admission of toxic, overwhelming and contrary sustenances; having nourishment at uncalled for times; heartburn; admission of drain and drain items, particularly yogurt; admission of meat of sea-going creatures; absence of physical action or doing exercise in the wake of having greasy nourishments are a portion of the basic reasons for Rheumatoid Arthritis.

Indications

  • Thirst
  • Swelling
  • Heartburn
  • Laziness
  • Torment and firmness in the body
  • Weight in the body
  • Here and there absence of craving
  • Torment and firmness in the joints of the hands

Ayurvedic Rheumatoid Arthritis Treatment

Despicable nourishment propensities and stationary way of life can prompt disability of stomach related fire, arrangement of ama (poison) and vitiation of Vata (air). At the point when a man enjoys Vata-disturbing eating routine and way of life, at that point this irritated Vata courses ama in the channels of the body and stores it in the joints, causing Amavata.

Ayurvedic treatment of Rheumatoid Arthritis begins with placation of Vata and disposal of poisons from the body. Home grown meds are regulated to enhance the stomach related fire and counteract encourage development of ama. Panchakarma rub treatments are very helpful in dying down torment in Arthritic patients.

Eating routine and Lifestyle Advice

  • Increment admission of grain flour, horse gram (a sort of bean), split green gram, nectar, celery seeds, cumin seeds, dried ginger root powder, garlic, intense gourd and castor oil.
  • Abstain from eating fish and drain together or drain and jaggery together.
  • Stay away from contrary, overwhelming, and slick nourishments.
  • Stay away from an ill-advised eating routine and way of life, for example, awakening late in the night, stifling common desires of the body, and getting immediate presentation to frosty breezes.

Home Remedies

  1. Go for total fasting or depend on a fluid or semi-strong eating regimen for a whole day, contingent upon your quality. You can take after this with hot fomentation (use of wet warmth). This should be possible by absorbing fabric warm water and giving a pack over the influenced parts or steam shower or washing up with tepid water. These are the best techniques for processing ama.
  2. Light massage of the body with mustard or sesame oil helps in calming the vaata. Especially massage the joints on the affected joints for a long time.
  3. Exercise is also beneficial, but if the pain begins to happen then the exercise should be stopped.
    Drink lemon juice or orange juice also benefits. Eating naturally available Vitamin C provides benefits in bone pain.
  4. Use of Guggul is also helpful in the destruction of this disease, but its consumption is prohibited in patients affected by skin diseases or kidney disease.
  5. Light and digestible food should be eaten. Foods that cause air pollution (gas) should not be eaten.
  6. Drinking juice of broccoli, beetroot, cucumber etc. is extremely beneficial. The consumption of apple, orange, grapes and papaya is also beneficial. Parwal, Tori, Pumpkin – These vegetables should take after cooking. While cooking, cumin, coriander, ginger, asafetida, garlic, fennel and turmeric should be used.
  7. Hot Tasir, sharp, spicy, and friable and air-producing food should not be eaten. Cabbage, cauliflower, spinach, broccoli, potato and lady finger consumption are harmful in arthritis. Tea, coffee, curd, wines, sugar, chocolate and smoking are also prohibited for the patient.
  8. Staying awake for more time in the night, sleeping in the morning, sleeping in the day, thinking excessively and worrying, mental stress – most of these arthritis accretion.
Posted in Astrology

Job Me Promotion Ke Liye Achuk Totke|Upay in Hindi

Ajj hum apko kuch aise upay ke bare me batayege jisse app apni jjobb me promotion pa skege. Har koi mehant krta hai par saflata har kisi ko nahi milti. Kayi bar to aise bhi hota hai ki bahut mehnat karne ke bavjud bhi kam me taraki nahi milti or kisi ko bina mehant kiye hhi promotion or tarakki mil jati hai. Aisa greho kay dosh ke karan hota hai. Hamari kundali me greho ki statithi achi nai hoti hai jiske karan naukri or job me hamay tarakki nahi milti hai. Yadi aap promotion ya tarakki pana chahte hai to niche diye gye upay ko avashya hi use kre.

Job Me Promotion Ke Liye Achuk Upay or Totke in Hindi
Yadi apki kundali me shani greh ka kurabhav par raha hai to apko job me promotion me badha atti hai. Naukri me promotion or tarakki le liye achuk upay or totke in hindi ka istemal kare. Ek bartan may til ka tail lekar usme apni shaya ko dekh kar use daan kar de.

Pati Ki Naukri Me Promotion Ke Upay or totke in Hindi
Agar kundali me surya khrab ho to naukri me badhaye atti hai. Iske liye apko har roj subah suryadev ko tambay ke lottay se jal chadaye.

Job Me Tarakki Ke Achuk Upay or Totke in Hindi
Chandra ke khrab honay se bhi apki promotion or tarakki may badhaye ho sakti hai. Iske liye upay hai kaccha dudh nadi me bahaye or mata pita ki sewa kare vo bhi mann lagakar.

Jyotish Ke Upay For Nokari and Promotion
Agar apka Chandra khrab hoga to apko promotion may pareshanio ka samna karna padega jisse ki apko naukri or job may apki mehnat ka fal nahi milega. Naukri or promotion kay liye is jyotish ke upay ka upyog kare. Ghar ke bujurago ka or mahilayo ka sanmman kare or chandi ki anguthi or karra pehne.

Lal Kitab Remedy For Job and Promotion
Apki promotion ka na honay ka karak budh greh ka thik na hona bhi ho sakta hai. Iske liye ek upay hai. Kisi bhi Brahman kanya ko chandi ke abhushan daan kare.

Naukri Me Badlav Ke Achuk Totke or Upay in Hindi
Agar job me badlav karna chahte hai par safal nahi ho pa rhe to is naukri me badlav ke achuk totke upay in hindi ko istemal kare. Guru ke prabhav se agar apki tarakki me baadha aa rahi hai to harroj kapila yani k pilay rang ki gaaye ko Gurr-channa khilaye.

Promotion Ke Liye Achuk Totke Upay in Hindi
Shukar greh agar acha na ho to tab bhi apko promotion milne may samsayo ka samna karna pad sakta hai. Promotion ke liye achuk totke upay in hindi ka istemal kare. Jab bhi aap ghar se bahar jaye kisi bhi kam say to nikalnay se pehle parivar ki bujurag sitiriyio ka charan saprash kar ke hi jaye.

Transfer Karne Ke Totke
Rahu ke prabhav se bachne kay liye is job me promotion ke achuk totke upay in hindi ka prayog kare. Kisi vidvan pandit se vichar vimarsh karke Gomade dharan kare.

Agar apka ketu khrab hai to apko is upay ka prayog karna chahiye. Bhairav ji ki puja kare or apne sath hmesha haray rang ka rumal rakhe.

Posted in Health

How to Stop Hair Fall Immediately Control Tips in Hindi

हमारे शरीर के हरेक अंग और भाग का अपना ही महत्व है| मनुष्य के व्यक्तिव पर उसके हर अंग का प्रभाव होता है| अगर शरीर का कोई भी अंग सही न हो तो मनुष्य के व्यक्तित्व को प्रभावित करता है| इनमे से बालो का बहुत ही महत्व है| बालो का व्यक्ति के व्यक्तित्व पर बहुत ही गहरा प्रभाव होता है| मगर कई बार कई कारणो से हमारे बाल झड़ने शुरू हो जाते हैं और कई बार तो इतने झड़ जाते है की सिर की चमड़ी दिखने लग जाती है और व्यक्ति अपनी उम्र से भी ज्यादा उम्र का लगने लग जाता है| बालो के झड़ने के कई कारण है जैसे कि पर्यावरणीय प्रभाव, बुढ़ापे, बहुत अधिक तनाव, अत्यधिक धूम्रपान, पोषक तत्वों की कमी, हार्मोनल असंतुलन, आनुवांशिक कारक, खोपड़ी के संक्रमण, गलत या रासायनिक रूप से समृद्ध बाल उत्पादों, कुछ दवाइयां और चिकित्सा की स्थिति जैसे थायराइड विकार, ऑटोइम्यून बीमारियों, पॉलीसिस्टिक अंडाशय सिंड्रोम (पीसीओएस), लोहे की कमी वाले एनीमिया, और पुरानी बीमारियां।

हमारी खोपड़ी पर 1,00,000 के लगभग बाल है| दिन में अगर 50 से 100 बाल गिरे तो इसे सामान्य माना जाता है किन्तु अगर इससे ज्यादा गिरे तो हमें संभल जाना चाहिए नहीं तो हम गंजेपन का शिकार हो सकते है| बालो की देखभाल के लिए घर में कई तरह की सामग्री उपलब्ध है जिसका प्रयोग कर सकते है| ऐसे ही कुछ उपायों के बारे में बताने जा रहे है जिसके उपयोग से आप अपने बालो को झड़ने से रोक सकते है|

hair fall solution for women in hindi naturally at home

बालो की तेल मालिश (Hair Fall Control Tips Through Oil Massage)

अपने बालो को किसी भी उचित तेल से सिर पर मालिश करे| तेल को बालो की जड़ो में अच्छे से लगाए| उचित बाल और खोपड़ी की मालिश बाल के रोम में रक्त के प्रवाह में वृद्धि, सिर की हालत, और अपने बालों की जड़ों की ताकत बढ़ाने में वृद्धि होगी। यह आराम को बढ़ावा देगा और तनाव की भावनाओं को कम करेगा। आप नारियल या बादाम तेल, जैतून का तेल, अरंडी तेल, आमला तेल या अन्य किसी भी तेल का उपयोग बालो पर कर सकते हैं। बेहतर और तेज परिणामों के लिए बेस तेल में रोजमेरी एसेंशियल तेल की कुछ बूंदें डाले| आप अन्य प्रकार के तेल जैसे कि ईएमयू तेल, आर्गन तेलऔर गेहूं के बीज का तेल का भी उपयोग कर सकते हैं| ऊपर बताये गए तेलों में से किसी भी तेल से अपने बालो और जड़ो में हल्की-हल्की उंगलियों से लगाए| इसे हफ्ते में कम से कम एक बार जरूर करे|

आँवला (Hair Fall Control Tips in Hindi for Man by using Indian Gooseberry)

प्राकृतिक और तेज बाल विकास के लिए, आप आँवला का उपयोग कर सकते हैं| इसे अंग्रेजी में इंडियन गूसबेरॉय कहा जाता है| आँवला विटामिन सी में समृद्ध होता है, जिसके शरीर में कमी से बालों के झड़ने का कारण बन सकता है। आँवले में कई तरह के गुण मौजूद है जैसे कि एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटीऑक्सीडेंट, एन्टीबैक्टेरिअल और एक्सफोलिएटिंग जिससे कि जड़ो को मजबूती और बालो के विकास में मदद मिल सकती है|

आंवले  द्वारा बाल झड़ने के घरेलु उपाय

आंवले के गूदे और निम्बू के रस का एक एक टेबलसपुन मिलाकर एक घोल तैयार करे| इस घोल को अपने बालो की जड़ो में अच्छी तरह से लगाए| अपने बालो को स्नान टोपी से ढक ले| सारी रात के लिए इसे छोड़ दो और सुबह शैम्पू से अपने बाल धो ले|

मेथी के बीज (Hair Fall Problem Home Remedy in Hindi by using Fenugreek Seeds)

बालो के झड़ने के उपचार में मेथी बहुत ही प्रभावी है| मेथी के बीज में हार्मोन पूर्ववर्ती होते है जो बालों के विकास में वृद्धि करते हैं और बालों के रोमों के पुनर्निर्माण में मदद करते हैं। उनमें प्रोटीन और निकोटीनिक एसिड भी होते हैं जो बालों के विकास को प्रोत्साहित करते हैं।

एक कप मेथी के बीज पानी में सारी रात भिगो कर रखे| सुबह इन्हे पीस कर पेस्ट बना ले| इस पेस्ट को अपने बालो पर लगा ले और स्नान टोपी से ढक ले| 40 मिनट के बाद अपने बालो को अच्छी तरह से धो ले| एक महीने के लिए हर सुबह इस उपाय का पालन करें|

प्याज का रस (Hair Fall Solution for Men/women in Hindi Naturally at Home by using Onion Juice)

प्याज का रस अपने उच्च सल्फर सामग्री के कारण बालों के झड़ने का इलाज करता है, जो बालों के रोम में रक्त परिसंचरण को बेहतर बनाने में मदद करता है, बालों के रोम को पुनर्जन्म करता है और सूजन को कम करता है। प्याज के रस में जीवाणुरोधी गुणों से कीटाणुओं और परजीवी को मारने में मदद मिलती है, और खोपड़ी के संक्रमण का इलाज होता है जो बालों के झड़ने का कारण बन सकता है।

एक प्याज को काट कर उसका रस निकल ले और इस रस को सीधा ही अपने बालो की जड़ो में लगा दे और इसे लगभग 30 मिनट तक लगा रहने दे और फिर अपने बाल धो ले| आखिर में शेम्पू कर ले|

प्याज का रस तीन बड़े चम्मच और दो बड़े चम्मच अलोएवीरा जेल ले कर उसका मिश्रण बना ले| आप एक बड़ा चम्मच जैतून का तेल भी मिला सकते है| इस मिश्रण को अपने बालो की जड़ो पर लगाए और इसे 30 मिनट तक लगा रहने दे| इसके बाद अपने बालो को शैम्पू कर ले|
इनमे से कोई भी एक उपाय को दो हफ्ते में एक बार कई हफ्तों के लिए दोहराये|

एलोवेरा (How to Stop Hair Fall for Men/women in Hindi by using Aloe vera)

एलोवेरा जेल को अपने बालो की जड़ो में लगाए| कुछ घंटो के लिए इसे छोड़ दे और फिर इसे गुनगुने पानी के साथ धो ले| इस उपाय को हफ्ते में 3 से 4 बार दोहराए|

मुलैठी की जड़ (How to Stop Hair Fall Immediately in Hindi by Using Licorice Root)

मुलैठी की जड़ एक अन्य जड़ी बूटी है जो बालों के झड़ने और बालों को और नुकसान को रोकता है। यह उपाय रूसी, बालों के झड़ने और गंजापन के लिए अच्छा है|

एक बड़ा चम्मच मुलैठी की जड़ को केसर से साथ एक कप दूध में मिलाये और इसे अच्छी तरह से मिलायें| सोने से पहले इस पेस्ट को अपने सिर पर वहाँ लगाए जहा पर बाल नहीं है और इसे सारी रात ऐसे ही लगा रहने दे| सुबह अपने बालो को धो ले| हफ्ते में एक या दो बार इस उपाय का प्रयोग करे|

चुकंदर का रस (Hair Loss Treatment for Men in Hindi by using Beetroot Juice)

अपने आहार में ताजा चुकंदर का रस शामिल करें इसके अलावा, पालक के रस, अल्फला का रस या गाजर का रस बालों को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करेगा।

कुछ चुकंदर के पत्ते (उबले हुए) हिना के साथ पीसकर पेस्ट बना कर अपने सिर लगाए और 15-20 मिनिट तक लगे रहने के बाद धो ले| इस उपाय को हफ्ते में कई बार इस्तेमाल करे|